मिशन 90 उत्तराखंड किसी से भी किसी तरह का चंदा नहीं लेता है और न ही चंदा स्वीकार करता है..

मिशन 90 उत्तराखंड किसी से भी किसी तरह का चंदा नहीं लेता है और न ही चंदा स्वीकार करता है.. इस लिए आपसे निवेदन है की मिशन 90 उत्तराखंड के लिए कोई भी चंदा किसी भी तरह का किसी को न दें। मिशन 90 उत्तराखंड पहाड़ के 9 जिलों में 10000 करोड़ का लक्ष्य लेकर प्रारम्भ किया गया है इस लिए इतने बड़े लक्ष्य की पूर्ती चंदे से नहीं हो सकती और विगत 3 वर्ष पहले से हम घोषणा कर चुके हैं कि मिशन 90 उत्तराखंड को चलाने के लिए किसी भी तरह का चंदा कृपया आप बिलकुल न दें, इससे मिशन की बदनामी होगी। हमारे पास अनेक तरह के प्रोग्राम हैं जिनके माध्यम से हम पहाड़ के टीनएजर व् युवाओं को पहाड़ के गाँव में ही रोज़गार देने के भरपूर प्रयास में लगे हुए हैं , हम यह कार्य बिलकुल साफ़ दिल से और एक निश्चित योजना के तहत कर रहे हैं इस लिए चंदा लेकर मिशन 90 उत्तराखंड को चलाएं जाने का सवाल ही पैदा नहीं होता। शीघ्र ही पौड़ी गढ़वाल के धूमाकोट ब्लॉक में एक स्किल्ड डेवलपमेंट ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना की जा रही है और इसी के साथ साथ रुद्रप्रयाग जिले की श्री केदारघाटी में 30 गाँव में स्किल्ड डेवलपमेंट और गाँव में ही रोज़गार उपलब्ध करवाने की एक बड़ी तैयारी हो चुकी है.. हमारे उदेश्यों को आप तक पहुंचाने के लिए हमने एक पोर्टल बनाया है जिस पर आपको हर एक संडे को एक वीडियो मिलेगा जिससे आपको पता चलता रहेगा की मिशन 90 उत्तराखंड कितनी प्रगति कर रहा है…

मिशन 90 उत्तराखंड आपसे पुन: अनुरोध करता है की किसी भी शख्स को मिशन 90 उत्तराखंड के नाम पर चंदा न दें. हम किसी से भी चंदा स्वीकार नहीं करेंगे। चाहे वो 1000 का हो या 1000 करोड़ का हो.. सो प्लीज़ नो चंदा। सिर्फ मिशन 90 उत्तराखंड की मूल भावना को समझ कर इसका साथ दें…

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

CALL ME
+
Call me!
WhatsApp chat